Pani Peene Ki Sunnat । पानी पीने का सुन्नत और सही तरीका जानिए

हम सब को हमेशा सही और सुन्नत तरीके के मुताबिक़ पानी पीना चाहिए ऐसे में हमें Pani Peene Ki Sunnat मालूम भी होनी ही चाहिए।

अगर हम पानी को सुन्नत तरीके से पियेंगे तो हमारी प्यास तो बुझेगी ही साथ ही साथ सुन्नत के मुताबिक़ हमें पानी पीने से नेकी भी हासिल होगी।

इसीलिए आज आप यहां पर पानी पीने का इस्लाम के मुताबिक़ सुन्नत तरीका को पढ़ेंगे तो आप यहां पर ध्यान से पढ़ें जिसे आप को पानी पीने का सुन्नत समझ आ जाए।

Pani Peene Ki Sunnat

  1. दाहिने हांथ से पीना
  2. बैठ कर पानी पीना
  3. बिस्मिल्लाह शरीफ़ पढ़ना
  4. तीन सांस में पीना
  5. बर्तन में सांस न लेना
  6. पानी चूस कर पीना
  7. प्याले में पीना

#1. दाहिने हांथ से पीना

सुन्नत और शरीयत के मुताबिक़ पानी पीना हमेशा दाहिने हाथ से पीना चाहिए इसी लिए जब कभी आप कोई भी चीज़ पिएं तो हमेशा दाहिने हांथ से पिएं।

#2. बैठ कर पानी पीना

जब कभी पानी या कोई भी चीज पिएं तो इत्मीनान के साथ बैठ कर पिएं सिवाय आबे जमजम और वजू का बचा हुआ पानी जो खड़े हो कर पीना दुरुस्त है।

इस्लाम के शुरुआती दौर में लोग चलते फिरते खा लिया करते और खड़े हो कर पी लिया करते मगर हुज़ूर सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने बैठ कर खाने पीने की नसीहत फरमाई।

#3. बिस्मिल्लाह शरीफ़ पढ़ना

पानी पीने से पहले बिस्मिल्लाह हिर्रहमान निर्रहिम पढ़कर के ही हमेशा पानी पिएं इस्लाम ने हमें सबसे पहला सबक यही दिया है कुछ भी सही करने से पहले अल्लाह का नाम लें।

इसे भी पढ़ें: पानी पीने की दुआ

आपको भी मालूम होगा कि जो चीज़ अल्लाह के नाम से शुरू की जाती है अल्लाह की रजा उसमें शामिल हो जाती है इसी लिए पीने से पहले भी पढ़ लें।

#4. तीन सांस में पीना

पानी कम अज़ कम तीन सांस में ज़रूर पीना चाहिए एक बार पी कर बर्तन को मूंह से हटा कर सांस लें तीनों सांस में इसी तरह करें।

पहली और दूसरी सांस में एक एक घूंट पिएं और तीसरी सांस में ज्यादा घूंट पिएं या फिर इससे भी ज्यादा सांस ले कर आप पी सकते हैं।

#5. बर्तन में सांस न लेना

पानी पीते वक्त मूंह को लगाए लगाए सांस न लें हर घूंट के बाद बर्तन या प्याले से मूंह निकाल कर सांस लें यह भी एक बहुत बड़ी सुन्नत है।

#6. पानी चूस कर पीना

कभी भी पानी में फूंक ना मारे अगर कोई चीज़ पानी में गिरा भी हो तो उसे एक तरफा झुका कर गिरा दें पानी हमेशा चूस कर पिएं घट घट से नहीं।

#7. प्याले में पीना

सोने चांदी की बर्तन में भी पानी नहीं पीना चाहिए इससे अमीरी जाहिर होती है इसीलिए हुज़ूर सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने सोने चांदी की बर्तन में पीने से मना फ़रमाया है।

पानी अक्सर प्याले व गिलास से पीना चाहिए हुज़ूर सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम पानी पीने के लिए प्याला और गिलास को भी इस्तेमाल में लाते थें।

Must Read: Pani Peene Ke Baad Ki Dua

FAQs

पानी पीने की कितनी सुन्नत है?

पानी पीने की 7 खास और खुशगवार सुन्नत है।

पानी पीने के बारे में पैगंबर ने क्या कहा?

पानी पीने के बारे में हमारे प्यारे पैगंबर ने तीन बार में पानी पीने को कहा यह मुफीद और खुशगवार है।

अंतिम लफ्ज़

आप तो अब तक पानी पीने का सुन्नत और सही तरीका को पढ़ कर आसानी से समझ भी गए होंगे और अब से हमेशा पानी को सुन्नत तरीके के मुताबिक़ पिया करेंगे हमने यहां पर तमाम बातें हिंदी के साथ साथ आसान लफ्ज़ों में लिखा।

जिसे आप आसानी से पढ़ कर और समझ जाएं फिर अमल में ला कर ख़ूब सवाब हासिल करें अगर इसे मुकम्मल पढ़ने के बाद भी आपके मन में कोई सवाल या फिर कहीं समझने में दिक्कत आ रही हो तो कॉमेंट करके ज़रूर पूछें।

अगर यह पैग़ाम आपके लिए फायदेमंद साबित हुई हो यानी इसे कुछ अच्छी बातें सीखने को मिली हो तो बराए मेहरबानी ऐसे इल्म को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाएं जिसे सभी लोग सुन्नत के मुताबिक़ पानी को पिएं शुक्रिया।

My name is Muhammad Ittequaf and I'm the Editor and Writer of Namazein. I'm a Sunni Muslim From Ranchi, India. I've experience teaching and writing about Islam Since 2019. I'm writing and publishing Islamic content to please Allah SWT and seek His blessings.

Leave a Comment