Fatiha Ka Tarika । फातिहा करने का आसान तरीका

आज यहां पर आप एक बहुत ही ख़ास और ज़रूरी इल्म यानी कि Fatiha Ka Tarika जानेंगे हमने यहां पर फातिहा करने का सही तरीका बहुत ही आसान लफ्ज़ों में बताया है।

जिसे पढ़ने के बाद आप आसानी से कहीं पर भी चाहे घर में हो या मजार में या फिर कब्रिस्तान में सभी जगह आप आसानी से फातिहा सही तरीके से दे पाएंगे।

फिर इसके बाद आपको कहीं और फातिहा का तरीका नहीं देखनी पड़ेगी इसीलिए आप यहां पर ध्यान से पढ़ें जिसे आसानी से फातिहा करना सीख जाएं।

Fatiha Ka Tarika

फातिहा शुरू करने से कब्ल आप शिरनी तबर्रुक फल फ्रूट पानी वगैरह को सही और खुला करके अपने सामने रख लें फिर इन बातों पर अमल करें।

अगर आप घर में फातिहा पढ़ रहे हैं तो आप सही तरीके से काबा शरीफ की ओर रूख करके सब शीरनी तबर्रुक सामने रख कर बैठ जाएं और इन बातों पर अमल करें।

अगर आप औलिया की बारगाह में यानी मजार या कब्र पे फातिहा पढ़ रहे हैं तो इत्मीनान के साथ बैठ जाएं या सही से खड़े हो कर भी नीचे लिखी बातों पर अमल करें।

  • सबसे पहले 3 मरतबा दरूद शरीफ पढ़ें।
  • फिर सूरह काफीरुन 1 मरतबा पढ़ें।
  • इसके बाद 3 मरतबा सूरह इखलास पढ़ें।
  • अब 1 मरतबा सूरह फलक पढ़ें।
  • इसके बाद सूरह नास 1 मरतबा पढ़ेंगे।
  • अब 1 मरतबा सूरह फातिहा पढ़ें।
  • फिर 1 मरतबा सूरह बकरह मुफ्लीहुन तक पढ़ें।
  • फिर 1 मरतबा आयते खामसह पढ़ें।
  • अब आख़िर में भी 3 मरतबा दरूद शरीफ पढ़ें।

अब यहां अऊजुबिल्लाह मिनश शैतानिर्रजीम और बिस्मिल्लाह हिर्रहमान निर्रहीम फिर ‘अला इन्ना औलिया अल्लाहि ला खऊफून अलैहिम वला हुम यह जूनून’ फिर अल्लज़ीना आमनु व कानू यत्तकुन पढ़ कर।

सुब्हाना रब्बिक व रब्बिल इज्जते अमा यसिफुन व सलामुन अलल मुरसलिम वल्हम्दुलिल्लाही रब्बिल आलमिन पढ़ें और 1 बार दरूद शरीफ पढ़ कर अल फातिहा कहें इसके बाद बख़शिश करें डिटेल में जानने के लिए पूरा पढ़ें।

Fatiha Ka Tarika In Hindi
Fatiha Ka Tarika

सबसे पहले 3 मरतबा दरूद शरीफ पढ़ें।

अल्लाहुम्म सल्लिअला सैय्यिदिना मुहम्मदिंव व अला आलि सय्यिदिना मुहम्मदीन कमा सल्लै त अला सय्यिदिना इब्राहिम व अला आलि सय्यिदिना इब्राहिमा इन्नका हमीदुम मजीद अल्ला हुम्मा बारिक अल्ला सय्यिदिना मुहम्मदिंव व अला आलि सय्यिदिना मुहम्मदिन कमा बारकता अल्आ सय्यिदिना इब्राहिम व अला आलि सैय्यिदिना इब्राहिमा इन्नका हमीदुम मजीद.
Allahumma Sallialla Saiyyidina Muhamadiw W Ala Aali Saiyyidina Muhamadin Kamaa Salai T Ala Saiyyidina Ibrahim W Ala Saiyyidina Ibrahima Innka Hamidum Mazid Alla Humma Barik Alla Saiyyidina Muhamadiw W Ala Aali Saiyyidina Muhammadin Kamma Barktaa A’ala Saiyyidina Ibrahim W Ala Aali Saiyyidina Ibrahima innka Hamidum Mazid.

फिर सूरह काफीरुन 1 मरतबा पढ़ें।

बिस्मिल्लाह हिर्रहमान निर्रहिम. कुल या अय्यूहल काफिरुन. ला आअबुदू मा ताअ बुदू न. व ला अन्तुम आबिदू न मा आअबुद. व ला अना आबिदुम माअबत्तुम. वला अन्तुम आबिदू न मा आअबुद. लकुम दीनुकुम वलि यदीन.
Bismillah Hirrahmaan Nirrahim. Qul Ya Ayyuhal Kafirun La A’ abudu Ma T’abudu’n W La Antum Aabid N Ma’ Bud Wla Ana Aabidum Ma Abtum Wala Antum Aabidun Ma Aabud Lakum Dinukum wali Yadin.

इसके बाद 3 मरतबा सूरह इखलास पढ़ें।

बिस्मिल्लाह हिर्रहमान निर्रहिम. कुल हु वल्लाहु अहद्. अल्लाहुस् समद. लम य लिद् वलम यूलद. वलम यकुं ल्लहु कुफुवन अहद.
Bismillah Hirrahmaan Nirrahim. Qul Hu Wallahu Ahad Allahus Samad Lam Y Lid Walam Yulad Walam Yaku llahu Kufuwan Ahad.

अब 1 मरतबा सूरह फलक पढ़ें।

बिस्मिल्लाह हिर्रहमान निर्रहिम. कुल अऊजु बिरब्बिल् फ लक. मिन शर्रि मा ख लक. व मिन शर्रि गासिकीन इजा वकब. व मिन शर्रि नफ्फासाति फिल उकद. व मिन शर्रि हासिदीन इजा हसद्.
Bismillah Hirrahmaan Nirrahim. Qul Auju Bi Rabbil Falaq Min Sharri Maa Khalaq W Min Sharri Gaasikin Iza Wakab W Min Sharri Naffashati Fil Uqad W Min Sharri Haashideen Iza Hasad.

इसके बाद सूरह नास 1 मरतबा पढ़ेंगे।

बिस्मिल्लाह हिर्रहमान निर्रहिम. कुल अऊजु बिरब्बिन्नास. मलिकीन्नास इलाहिन्नास. मिन शर्रिल वस्वासिल-खन्नासिल. लजी युवसविसु फि सुदूरिन्नास. मिनल जिन्नति वन्नास.
Bismillah Hirrahmaan Nirrahim. Qul Auju Bi Rabbin Nas Malikinnas Illahinnas Min Sharril Waswasil Khannasil Lazi Yuwas Wisu Fi Sudurinnas Minal Zinnatti wannas.

अब 1 मरतबा सूरह फातिहा पढ़ें।

अउजुबिल्लाहि मिनशशैतानिर्रजीम. बिस्मिल्लाह हिर्रहमान निर्रहीम. अलहम्दु लिल्लाहि रब्बिल आलमिन. अर्रहमा निर्रहीम. मालिकि यौमिद्दिन. इय्याका नअबुदु व इय्याका नस्तईन. इहदिनस सिरातल मुस्तकी म. सिरातल लजी न अन अम्ता अलैहिम गैरिल मगदूबि अल्लैहिम वलद्दाल्लीन.आमीन
Aujoobillahi Minashshaitanirrajim. Bismillah Hirrahmaan Nirrahim. Alhamdu Lillahi Rabbil Aalmin Arrahman Nirahhim Maliki Yaumiddin Iyyaka N’ Abudu W Iyyaka Nast-in Ihdinas Siratal Mustaki’m Siratal Lazi’n An Amta Alaihim Gairil Magdoobi Alaihim Walad-Dallin. Aamin

फिर 1 मरतबा सूरह बकरह मुफ्लीहुन तक पढ़ें।

बिस्मिल्लाह हिर्रहमान निर्रहिम. अलिफ़ लाम मिम. जालीकल किताबु ला रै बफिह. हुदल लील मुत्तकीनल्लजीना यूमिनूना बिल गैबि व युकिमुनस्सलाता व मिम्मा रजकनाहुम युनफिकुन. वल्लजीना युमिनू ना बिमा उनजिला इलैका वमा उनजिला मिन कब्लिक. व बिल आखिरती हुम यूकिनुन. उलाइका अला हुदम मिंर रब्बिहिम व उलाइका हुमूल मुफलिहून.
Bismillah Hirrahmaan Nirrahim. A Lif Lam Mimm Zalikal Qitabu La ryb Fih Hudal-lil Mut-Takinallazina Yu Minuna Bil Gaibi W Yukimu Nassalataa W Mimma Razaknahum YunFiqun Wallazina Yuminu Na Bima Unzila Ilaika Wma Unzila Min Kablik W Beel Aakhirati Hum Yukinun Ula-ika Ala Hudam Mirrabbihim w Ula Ika Humul Muflihun.

फिर 1 मरतबा आयते खामसह पढ़ें।

व इलाहुकुम इलाहुं वाहीद. लाइलाहा इल्ला हुवर्रहमानुर्रहिम. इन न रहमतल्लाही करिबुम मिनल मुहसिनीन. वमा अरसलनका इल्ला रहमतल लिल आलमिन. मा का ना मुहम्मदुन अबा अ हदिम मिंर रिजालिकुम वला किंर रसुलल्लाहि व खातमन नबिय्यीन व कानल्लाहू बिकुल्लि शैइन अलीमा. इन्नल्लाहा व मलाइ क त हू यूसल्लूना अलन्नबिय्यि. या अय्यूहल लजिना आमनू सल्लु अलैहि व सल्लिमू तस्लिमा.
W ila Huqoom ilahoon Wahid La ilaha illa huwarrahnurrahim inna rahmatallahi Karibum Minl Muhsinin Wma Arsalnaka illa Rahmal Lil Aalmin Maknaa Muhamaddan aba A Hadim Mir Rijalikum Walaa Kir Rasulalallahi w Khatman Nabiyyin W Kan Nalahu Bikulli Shaiyyin Alima Innalillaha w mala-ik Tahoo Yusalluna alan Nabiyyi Ya Ayyuhal Lazina Aamnu Sallu Alaihi W Salimu Taslima.

अब आख़िर में भी 3 मरतबा दरूद शरीफ पढ़ें।

यहां पर आप वही उपर में बताई हुई दरूद शरीफ 3 मरतबा पढ़ें या फिर कोई भी दरूद शरीफ उपर में या फिर यहां भी पढ़ सकते हैं।

फिर अऊजुबिल्लाह मिनश शैतानिर्रजीम और बिस्मिल्लाह हिर्रहमान निर्रहीम पढ़ कर‘अला इन्ना औलिया अल्लाहि ला खऊफून अलैहिम वला हुम यह जूनून’ पढ़ें।

फिर अल्लज़ीना आमनु व कानू यत्तकुन पढ़ कर सुब्हाना रब्बिक व रब्बिल इज्जते अमा यसिफुन व सलामुन अलल मुरसलिम वल्हम्दुलिल्लाही रब्बिल आलमिन पढ़ें।

इसके बाद अल फातिहा कहें और अब फातिहा के बाद की बख्शिश शुरू होगी ध्यान दें।

बख्शने का तरीका

ऐ अल्लाह मैंने तेरी बारगाह में कुराने पाक की तिलावत की और दुरूद शरीफ़ भी पढ़ा यहां पढ़ने में जो भी गलतियां हुई हो अपने फजलो करम से माफ़ फरमा।

इस शिरनी तबर्रुक और पानी का सवाब सबसे पहले सरकारे दो आलम सल्लल्लाहु तआला अलैहि वसल्लम के बारगाह ए मुकद्दस में तोहफ्तन हदियातन पेश करते हैं कुबूल फरमा।

हजरते आदम अलैहिस्सलाम से लेकर हजरते इसा अलैहिस्सलाम तक कमों बेस एक लाख चौबीस हजार अम्बियाए किराम व रसूलाने एजाम के बारगाहों में ये शिरणी तबर्रुक को पेश करते हैं मौला कुबूल फरमा।

हुजूर के सहाबा सहाबियात व अहले बैते अतहार अज्वाजे मोतह्हरात जुमला शहीदाने कर्बला जुमला शहाबा ताबेईन ताब ताबेईन अइमए मुजतहिदीन बुजुर्गाने दिन मुत्तकिन सालेहिन मोमेनिन के अरवाहे पाक को पेश करते हैं कुबूल फरमा।

इसका सवाब पिराने पीर दस्तगीर रौशन ज़मीर हजरते गौसे आज़म रजियल्लाहो तआला अन्हो और ख्वाजाए ख्वाजगान हिंद अल वली अजमेरी चिश्ती और तमाम औलियाए कामेलिन के बारगाहों में पेश करते हैं कुबूल फरमा।

इस दुनियां से जितने भी मोमिनीन व मोमिनात गुजर चुके हैं उनकी बख़्शिश अता फ़रमा और सब को जन्नतुल फ़िरदौस में आला से आला मकाम अता फरमा। बिल खुसुस (यहां पर नाम लें) इसका सवाब अता फरमा और उन्हें भी जन्नतुल फ़िरदौस में आला से आला मकाम अता फरमा।

ऐ अल्लाह तू अपने फज्ल से हुजूर के सदके में और तमाम नेक बंदों के सदके में हमारे घर में बरकते अता फरमा और तमाम परेशानियों से निजात फरमा रोजी रोजगार में रिज्क़ में खूब खूब बरकते अता फरमा दुनियां और आखिरत की खुब खूब भलाइयां नसीब फरमा आमिन सुम्मा आमिन।

अंतिम लफ्ज़

मेरे प्यारे मोमिनों अब तक तो आप भी आसानी से फातिहा का तरीका जान गए होंगे और अब से सही से आप आसानी से फातिहा पढ़ पाएंगे।

हमने यहां पर फातिहा करने का तरीका बहुत ही आसान तरीके से साफ साफ बताया था जिसे आप आसानी से फातिहा का मुकम्मल तरीका जान जाएं।

अगर इसे पढ़ने के बाद भी फातिहा लगाने से रिलेटेड कोई भी सवाल या फिर किसी तरह का डाउट हो तो आप हमसे कॉमेंट करके पूछ सकते हैं।

अगर यह इल्म आपको अच्छा लगा हो यानी इसे कुछ भी सही चीज़ सीखने को मिली हो तो ऐसे इल्म को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक शेयर करके पहुंचाएं।

My name is Muhammad Ittequaf and I'm the Editor and Writer of Namazein. I'm a Sunni Muslim From Ranchi, India. I've experience teaching and writing about Islam Since 2019. I'm writing and publishing Islamic content to please Allah SWT and seek His blessings.

Leave a Comment