Ghar Se Nikalne Ki Dua In Hindi । घर से निकलने की दुआ हिंदी, अरबी और इंग्लिश में

आज यहां पर आप एक बहुत ही खुबसूरत रहमत व बरकत भरी दुआ यानी कि Ghar Se Nikalne Ki Dua In Hindi में जानेंगे हमने यहां पर घर से निकलने की दुआ हिंदी के साथ साथ अरबी और इंग्लिश के साफ़ लफ्ज़ों में बताया है।

जिसे आप पढ़ और समझ कर बहुत ही आसानी से अपने जेहन में भी बसा लेंगे और इस दुआ को हमेशा घर से निकलते वक्त पढ़ा करेंगे फिर आपको कहीं भी नहीं देखनी पड़ेगी इसीलिए आप यहां ध्यान से पुरा पढ़ें।

Ghar Se Nikalne Ki Dua In Hindi

बिस्मिल्लाही तवक्कलतु अलल्लाही व ला हौ ल वला कुव्वता इला बिल्लाह

Ghar Se Nikalne Ki Dua In Hindi
Ghar Se Nikalne Ki Dua

Ghar Se Nikalne Ki Dua In Arabic

بِسْمِ اللّٰہِ تَوَکَّلْتُُ عَلَی اللّٰہِ وَلَاَ حَوْلَ وَلَاَ قُوَّۃَ اِلَّا بِاللّٰہِ

Ghar Se Nikalne Ki Dua In Arabic

Ghar Se Nikalne Ki Dua In English

Bismillahi Tawakkalatu Alallahi Wa La Hau La Walaa Quwwataa ilaa Billah

Ghar Se Nikalne Ki Dua Ka Tarjuma

मैं अल्लाह के नाम लेकर निकला मैंने अल्लाह पर भरोसा किया गुनाहों से बाज रहने और इबादत नेकी करने की ताकत अल्लाह ही की तरफ़ से है।

Must Read: Ghar Me Dakhil Hone Ki Dua

घर से निकलने की दुआ की फजीलत

  • जब कोई खुशनसीब अपने घर से निकलते वक्त घर से निकलने की दुआ पढ़ ले।
  • तो वो शख्स जब तक घर में दाखिल न हो जाए तब तक हर बला व आफत से महफूज रहता है।
  • हुज़ूर ताजदार ए मदीना सल्लल्लाहु तआला अलैहि वसल्लम ने इरशाद फरमाया।
  • जब कोई अपने घर के दरवाजे से बाहर निकलता है तो उसके साथ साथ दो फरिश्ते मुकर्रर होते हैं।
  • जब वह कहता है कि ‘बिस्मिल्लाही’ तो इस पे फ़रिश्ते कहते हैं कि तुने सीधी राह इख्तियार की है।
  • फिर ‘वला हौ ल वला कुव्वता इला बिल्लाह’ कहने पर फ़रिश्ते कहते हैं कि तु हर आफत से महफूज है।
  • दुआ में ‘त वक्कलतु अलल्लाही’ कहने पर फरिश्ते कहते हैं अब तुझे किसी और की मदद की हाजत नहीं।
  • जिसने भी घर से निकलने की दुआ पढ़ी उसे दो शैतान जो उस पर मुसल्लत होते हैं।
  • वह उससे मिलते हैं फरिश्ते कहते हैं अब तूम इस के साथ क्या करना चाहते हो?
  • इस ने तो सीधी रास्ता इख्तियार किया तमाम आफत से महफूज हो गया।

घर से निकलने की सुन्नत तरीका

  • सबसे पहले घर से निकलते वक्त अपने मां-बाप व अहलो आयाल से मुसाफा कर लें।
  • हुजूर ताजदारे मदीना सल्लल्लाहु तआला अलैहि वसल्लम का फरमान है घर से बाहर सलाम करके जाओ।
  • एक दूसरे की गलतियों को बक्शीश करके अपने घर से रुखसत हो जिस तरह से आप अपनी बक्शीश चाहते हैं।
  • जब घर से बाहर निकलने लगे तो अपने शरीर का कोई हिस्सा निकालने से पहले बायां पाव को बाहर निकालें।
  • जब घर से बाहर निकल जाए तो अपने हर कदम को संभाल के फेरे साथ ही धीरे धीरे हर कदम हर जगह चलें।

अंतिम लफ्ज़

मेरे प्यारे मोमिनों अब तक तो आप भी घर से निकलते वक्त पढ़ी जाने वाली दुआ पढ़ और समझ कर पढ़ना सीख गए होंगे और साथ ही इसकी फजीलत व बरकत भी समझ गए होंगे हमने यहां तमाम बातें बहुत ही आसान लफ्ज़ों में बताया जिसे आप आसानी से समझ कर अमल में लाएं।

अगर इसे मुकम्मल पढ़ने के बाद कुछ पढ़ने में समझ न आई हो या फिर किसी तरह का कोई डाउट हो सवाल हो तो भी आप हमसे कॉमेंट करके ज़रूर पूछें साथ ही इस दुआ को ज्यादा से ज्यादा लोगों को बताएं और शेयर भी करें जिसे सभी लोग इस दुआ को जानकर पढ़ना सीख जाएं।

My name is Muhammad Ittequaf and I'm the Editor and Writer of Namazein. I'm a Sunni Muslim From Ranchi, India. I've experience teaching and writing about Islam Since 2019. I'm writing and publishing Islamic content to please Allah SWT and seek His blessings.

1 thought on “Ghar Se Nikalne Ki Dua In Hindi । घर से निकलने की दुआ हिंदी, अरबी और इंग्लिश में”

Leave a Comment