Baitul Khala Jane Ki Dua In Hindi । बैतूल खला जाने की दुआ हिंदी में

आज यहां पर आप एक बहुत ही उम्दा किस्म की दुआ यानी कि Baitul Khala Jane Ki Dua In Hindi में जानेंगे हमने यहां पर इस बैतूल खला जाने की दुआ को हिंदी के साथ साथ अरबी और इंग्लिश में भी बताया है।

जिसे आप आसानी से पढ़ और समझ कर अपने जेहन में बसा लेंगे और हमेशा बैतूल खला जाते वक्त इस दुआ को पढ़ेंगे फिर इसके बाद आपको कहीं और बैतूल खला जाने की दुआ देखनी नहीं पड़ेगी।

Baitul Khala Jane Ki Dua In Hindi

अल्लाहुम्म इन्नी अउजू बि क मिनल खुब्सि वल खबाइस

Baitul Khala Jane Ki Dua In Hindi
Baitul Khala Jane Ki Dua

Click Here: Baitul Khala Se Nikalne Ki Dua

Baitul Khala Jane Ki Dua In Arabic

اَللّٰهُمَّ إِنِّيْ أَعُوْزُ بِكَ مِنَ الْخُبْثِ وَالْخَبَاىِٔثِ

Baitul Khala Jane Ki Dua In English

Allahumma inni A-ujoo Bika Minal Khubsee Wal Khabaais

Baitul Khala Jane Ki Dua Ka Tarjuma

ऐ अल्लाह मैं पनाह चाहता हूं खबीस जिन्नों से मर्द हो या औरत

Read Here: Wazu Karne Ki Dua

बैतूल खला जाने की सुन्नत तरीका

  • सबसे पहले बैतूल खला में जानें से कब्ल बिस्मिल्लाही पढ़ें फिर बैतूल खला में जानें की दुआ पढ़ें।
  • सादिक सल्लल्लाहु तआला अलैहि वसल्लम ने फ़रमाया कि तुम में से जब कोई बैतूल खला जानें का इरादा करे।
  • तो बिस्मिल्लाही पढ़ लें जिन्नों की निगाहों और बदन के उस हिस्से के दरमियान परदा कायम हो जाएगा।
  • बैतूल खला में हमेशा जूता या चप्पल पहन कर जाएं नंगे पांव या नंगे सर कभी भी बैतूल खला में न जाएं।
  • बैतूल खला में ज्यादा वक्त जाया न करें और ना ही कभी भी बैतूल खला के दरमियान बात करें।

बैतूल खला का तरीका व आदाब

  • जब भी बैतूल खला को जाएं तो सर ढक लें।
  • नंगे सर पशाब पखाना को जाना मकरुह है।
  • सबसे पहले बैतूल खला में बायां पाव जमाएं।
  • बैतूल खला के लिए पश्चिम की जानिब रूख न करें।
  • हमेशा उतर दक्षिण का रूख करके बैतूल खला में रहें।
  • अपने शर्मगाह को दाहिने हाथ से कभी भी नहीं छुएं।

अंतिम लफ्ज़

मेरे प्यारे मोमिनों अब तक तो आप भी बैतूल खला में जाने की दुआ पढ़ कर जान गए होंगे और इंशाल्लाह अमल में ला कर जरूर हिफाजत पाएंगे।

हमने यहां पर दुआ के साथ साथ तमाम बातें बहुत ही साफ़ और आसान लफ्ज़ों में बताया जिसे आप आसानी से पढ़ कर समझ जाएं और अमल में लाएं।

अगर इसे मुकम्मल पढ़ने के बाद भी आपके मन में कोई सवाल या फिर किसी तरह का कोई डाउट हो तो आप हमसे कॉमेंट करके ज़रूर पूछें।

अगर यह दुआ आपको अच्छा लगा हो तो आप भी इस दुआ को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाएं जिसे वो भी बैतूल खला जाने की दुआ जान जाएं।

My name is Muhammad Ittequaf and I'm the Editor and Writer of Namazein. I'm a Sunni Muslim From Ranchi, India. I've experience teaching and writing about Islam Since 2019. I'm writing and publishing Islamic content to please Allah SWT and seek His blessings.

2 thoughts on “Baitul Khala Jane Ki Dua In Hindi । बैतूल खला जाने की दुआ हिंदी में”

Leave a Comment